Ads

इन बातों का रखे ध्यान ! नहीं तो हो सकता है आपके साथ बहुत बड़ा धोखा |

hackers
 

अगर आप भी इन 9  बातों का नहीं रखते ध्यान तो  हो जाइये सतर्क नहीं तो हो सकता है आपका बैंक बैलेंस खाली  | 

एक तरफ इन दिनों जहाँ लोग देशव्यापी लॉकडाउन को लेकर परेशान है वही दूसरी ओर ऑनलाइन फ्रॉड की केसेस बढ़ गयी है | आज दुनियाभर के लोग इसके शिकार हो चुके हैं और ये संख्या दिनों दिन बढ़ते ही चली जा रहे है जहाँ अनपढ़ लोग इसके शिकार हो रहे वहीँ पढ़े-लिखे  लोग भी इस जालसाज़ी में आसानी से आ जा रहे है | आज मैं 9 बातें बताने जा रहा हूँ जिस से आप फ्रॉड का शिकार होने से बच सकते है | 


1. Phishing ( कभी भी लालच में न आये | )-

फिशिंग का क्या मतलब होता है-  जैसे हमलोग मछली को पकड़ने के लिए चारे (केचुआ ) का उपयोग करते है और मछली हमारे जाल में फस जाती है ठीक उसी प्रकार ठग आपको कॉल करके, मैसेज करके या मेल के द्वारा भी आपको चारा डालती है की आपको 10 लाख या कार और बाइक की लॉटरी लगी है  और आप आसानी से उसके जाल में फस जाते है और आप अपने जीते हुए लाटरी को लेने के चक्कर में आप अपना बहुत कुछ गवां देते है |  तो आपको कभी भी लालच में नहीं आना है क्यूंकि कोई भी कंपनी ऐसे ही आपको कोई लाटरी नहीं दे देती | अगर आपके पास कोई भी ऐसी कॉल आती है तो आप कॉल कट कर दे नहीं तो पहले उसका सत्यापन करे की वो कॉल करने वाला व्यक्ति कौन है और सी कंपनी से बोल रहा, क्यों हमें लॉटरी दी जा रही |  

     
LOTTERY

2. . कभी भी किसी को अपना अकाउंट का विवरण ना दे -

अगर आपके पास किसी भी व्यक्ति का कॉल आता है और वो बोलता है की मैं बैंक से बोल रहा हूँ या अपने आप को किसी नामी कंपनी का कर्मचारी बताता है और बोलता है की आपके अकाउंट बंद होने वाला है या आपका कार्ड ब्लॉक कर दिया जा रहा या फिर आपके अकाउंट में आधार नंबर सीड करना है | पहले वो आपको  कुछ ऐसी बातें बताएगा जिससे आपको यकीं हो जायेगा की  ये बैंक से या कोई कंपनी से कॉल आयी है और फिर आपके अकाउंट से जुडी विवरण लेने लगता है  और कुछ ही देर में आपके सारे पैसे उड़ा  ले जाता है  |  तो आपको कभी भी बैंक का  या कोई महत्वपूर्ण जानकारी किसी को ना दे जब तक आप उसे सत्यापन ना कर ले |  OTP या पासवर्ड ऐसी चीज़ो को आप भूलकर भी किसी को ना बताएं यहाँ तक बैंक को भी नहीं | 
        
phone_calls



 

 3 . कभी भी किसी अनौपचारिक वेबसाइट को विजिट ना करे  -

अगर आपकी भी आदत है किसी भी वेबसाइट को खोल कर वहां से कस्टमर केयर का नंबर निकाल कर कॉल करने की तो आप बहुत बड़ी गलती करते है | बहुत सारे ठग ऐसे होते है जो उसी तरह की वेबसाइट बना लेते है और अपना नंबर डाल देते है फिर हमलोग उस नंबर पे कॉल कर देते हैं हमें लगता है की मैं तो उस कंपनी के कर्मचारी से बात कर रहे है लेकिन दरशल वो ठग होता है और आपसे बैंक का विवरण या कोई और अन्य दस्तावेज़ का विवरण लेकर आपको ठग लेते है |  तो कभी भी किसी अनौपचारिक वेबसाइट को विजिट करने से बचे | हमेशा ऑफिसियल वेबसाइट से ही किसी कंपनी का कांटेक्ट विवरण निकाले |

            
website_visit


4. कभी भी किसी के कहने पे कोई भी एप्लीकेशन इनस्टॉल ना करे -

 पहली बात अगर आप कोई भी ऐप् अपने मोबाइल या डेस्कटॉप में इनस्टॉल करते है तो वो सत्यापित एप्लीकेशन होनी चाहिए  | किसी थर्ड पार्टी ऍप को इनस्टॉल करने से बचे | और दूसरी बात अगर आपने अगर कोई स्क्रीन शेयरिंग ऍप्स जैसे Any-Desk , Teamviewer , Zoom, Webex  इत्यादि इनस्टॉल किये है तो उसे किसी के साथ शेयर न करे |  अगर कोई व्यक्ति बोलता है ऐसे एप्लीकेशन को इनस्टॉल करने के लिए और शेयर करने के लिए तो ऐसा बिलकुल न करे | वो आपके फ़ोन या कंप्यूटर को अपने कण्ट्रोल में लेकर आपके अकाउंट से या किसी भी UPI पेमेंट ऍप से आपके अकाउंट से पैसे उड़ा सकता है और आपको पता भी नहीं चलेगा |  तो जिसे आप नहीं जानते उनसे कभी भी स्क्रीन शेयर ना करे |   


            
5 . टू-स्टेप वेरिफिकेशन या 3D सिक्योर पासवर्ड जैसे सुविधाओं को  प्रयोग में लाये  -

बहुत सारी बैंक या कंपनी टू-स्टेप वेरिफिकेशन या 3D सिक्योर पासवर्ड जैसे सुविधायें मुहैया कराती है हमें उसका उपयोग करना चाहिये |  टू-स्टेप वेरिफिकेशन का मतलब होता है की आप जब किसी वेबसाइट या मोबाइल ऍप्स में यूजर आईडी और पासवर्ड डाल कर लॉगिन करते है तो वो तुरंत लॉगिन न होकर आपसे 1 OTP मांगता है  या अन्य तरह का एक्स्ट्रा सिक्योरिटी देता है जिस से अनधिकृत लॉगिन नहीं हो पाता है और आपका अकाउंट सेफ रहता है |

password-input


            
6 . कभी भी अपने नाम ,जन्म दिन की तारीख या मोबाइल नंबर से सम्बंधित पासवर्ड ना बनाये -
अगर आप भी अपना नाम और ,जन्म दिन की तारीख या मोबाइल नंबर से सम्बंधित पासवर्ड बनाते है तो ऐसा ना करे | कोई भी हैकर या ठग आसानी से आपका पासवर्ड को क्रैक कर सकता है |हमेसा अपना पासवर्ड ऐसा रखे जिसे आसानी से गेस न किया जा सके | पासवर्ड हमेसा 8 अक्षरों से बड़ा और  उसमे नंबर, स्पेशल अक्षर और अल्फाबेट को मिलाकर ही रखे | उदाहरण के तौर पर मेरा भाई का बेटा का नाम रवि है तो Ravi@7042  एक पासवर्ड हो सकता है जिसे हम आसानी से याद भी रख सकते है और सिक्योर भी है |



 7 . अपने पासवर्ड को हर 2 -3 महीने में बदलते रहे और कभी भी किसी पेपर या अन्य जगह न लिखे  -

 आप अपने पासवर्ड को हर 2 -3  महीने में बदलते है  तो आपका अकाउंट ज्यादा सिक्योर रहेगा | अगर आपका पासवर्ड किसी को पता चल गया भी होगा तो आपके पासवर्ड बदलने के बाद वो पहले वाले पासवर्ड को उपयोग में नहीं ला सकता |  अगर आप भी अपने पासवर्ड को लिखकर रखते है या अपने फ़ोन में सेव करके रखते है तो ये खतरनाक हो सकता है आपके लिए तो हमेसा पासवर्ड याद रखे कहीं लिख कर न रखे | अगर आप अपने से जुड़े कुछ भी लिखते है चाहे वो बैंक से रिलेटेड हो या फिर आपने निजी जीवन से जुड़ा हो हमेसा उसे डिस्ट्रॉय करके ही कचरे की पेटी में डाले | अगर आप एटीएम जाते हो या बैंक जाते हो और आपने स्लिप को वहीँ कूड़े में बीना  डिस्ट्रॉय किये डाल दिए तो वो कागज किसी ठग या ऐसे इंसान के हाथ लग सकता जो आपके सारे पैसे उड़ा  ले जाए | 

not_write_on_paper



 . अगर आप ऑनलाइन खरीदारी करते है और पैसे अकाउंट से देते है तो सतर्क रहे-


अगर आप किसी वेबसाइट से ऑनलाइन खरीदारी करते है और पैसे अपने अकाउंट से कटवाते है तो थोड़ा सावधान हो जाइये |  आप अनौपचारिक वेबसाइट से कभी भी खरीदारी न करे ये वेबसाइट आपके डाटा को चोरी कर सकता है और आपके डाटा को किसी थर्ड पर्सन को बेच भी सकता है तो हमेसा आप https:// वाले वेबसाइट से ही खरीदारी करे या अपने बैंक डिटेल्स डाले क्यूंक https:// वाले वेबसाइट सिक्योर होते है और http:// वाले वेबसाइट सिक्योर नहीं होते है |

online payment

               
 . कोई पब्लिक प्लेस के मशीन या किसी अन्य मोबाइल पे लॉगिन करने से बचे-

अगर  आप अभी भी साइबर कैफ़े या कोई अन्य पब्लिक प्लेस के सिस्टम या अन्य मोबाइल पे अपना पर्सनल डिटेल या बैंक से जुडी विवरण डालते है तो ये आपके लिए बहुत खतरनाक हो सकता है क्यूंकि ऐसे बहुत सारे एप्लीकेशन जैसे Keylogger इत्यादि  आपके डाले गए सारे डाटा का रिकॉर्ड बनाकर रखता है और ये एप्लीकेशन सिस्टम के बैकग्राउंड में चालू रहती है तो आप आसानी से पकड़ भी नहीं सकते | तो ऐसे डाटा कभी भी किसी दूसरे उपकरण में ना  डाले जिसे बहुत सारे लोग उपयोग में ले रहे होंगे |  जैसे साइबर कैफ़े के मशीन , कॉलेज के मशीन, ऑफिस के मशीन  इत्यादि | 





 

No comments

Don't write any spam or wrong message

Powered by Blogger.